इस शेयर ने कर दिया मालामाल! 5 महीने में 1 लाख रुपये बन गए 99 लाख, मिला 10,000% रिटर्न


नई दिल्ली: Share Market Bumper Return: क्या आप एक ऐसा शेयर जानते हैं जिसने अपने शेयरधारकों को सिर्फ 5 महीने से भी कम समय में 10,000 परसेंट का रिटर्न दिया है. आप कहेंगे पक्का कोई चवन्नी शेयर (Penny Stock) होगा. जी नहीं, इस शेयर का नाम है Orchid Pharma, जो कि फार्मा सेक्टर की एक नामी कंपनी है. 

Orchid Pharma के शेयर ने दिया बम्पर रिटर्न

आपको जानकर हैरत होगी कि Orchid Pharma का शेयर पिछले साल 3 नवंबर, 2020 को 18 रुपये पर था, पिछले हफ्ते 28 अप्रैल 2021 को ये 1787 रुपये पर बंद हुआ. यानी इन पांच महीनों के दौरान ही इसने 9,827 परसेंट का रिटर्न दिया. जबकि इस अवधि के दौरान Sensex ने 21.56 परसेंट ही रिटर्न दिया.  

ये भी पढ़ें- 45 साल की उम्र में करोड़पति बनकर हो सकते हैं रिटायर, सिर्फ 177 रुपये रोजाना बचाना होगा, जानिए कैसे ?

 

कैसे 1 लाख बन गए 99 लाख रुपये

मान लीजिए किसी ने आज से 5 महीने पहले जब Orchid Pharma फार्मा का शेयर 18 रुपये पर था, तब 1 लाख रुपये लगाए, यानी तकरीबन 5556 शेयर खरीदे. पिछले हफ्ते शेयर 1787 रुपये पर पहुंचा, तो ये 1 लाख रुपये का निवेश बढ़कर 5556 x 1787 = 99.28 लाख रुपये यानी करीब 1 करोड़ रुपये हो चुका है. 

आज 5 परसेंट टूटा Orchid Pharma 

हालांकि आज Orchid Pharma का शेयर 5 परसेंट की गिरावट के साथ 1456 रुपये पर बंद हुआ है. इस भाव पर भी 1 लाख रुपये का निवेश 8.89 लाख रुपये या करीब 81 लाख रुपये हो जाता. Orchid Pharma की स्थापना 1992 में हुई थी. कंपनी का शेयर पिछले 5 महीनों 18 रुपये तक गिरा है तो 2,680 रुपये की ऊंचाई तक भी पहुंचा है. अगर शेयर के लाइफ टाइम हाई के भाव पर देखा जाए तो 1 लाख रुपये के निवेश की वैल्यू 1.49 करोड़ रुपये तक जा चुकी है. 

दोबारा लिस्ट हुई है Orchid Pharma

आपको बता दें कि Orchid Pharma कुछ दिन पहले ही शेयर बाजार में फिर से लिस्ट हुई है. इस कंपनी की प्रमोटर Dhanuka Laboratories है, जिसका इस कंपनी में 
98.07 परसेंट हिस्सा है. पब्लिक शेयरहोल्डर्स इस कंपनी में आधा परसेंट से भी कम हिस्सा रखते हैं. 

VIDEO-

तब थम जाएगी तेजी 

इस कंपनी के शेयरों में इतनी जोरदार तेजी की सबसे बड़ी वजह है कि नए निवेशकों ने कौड़ियों के भाव मेजोरिटी स्टेक खरीदा था. सेबी के नियमों के मुताबिक लिस्टिंग के तीन साल के अंदर प्रमोटर्स को कंपनी में अपनी हिस्सेदारी घटाकर 75 परसेंट पर लानी होगी. एक बार जब प्रमोटर्स अपनी हिस्सेदारी बेचना शुरू करेंगे तो इस शेयर में तेजी थम जाएगी. यानी इतना शानदार रिटर्न होने के बावजूद एक्सपर्ट्स इसे खरीदने की सलाह नहीं देंगे. 

ये भी पढ़ें- SBI कस्टमर्स के लिए बड़ी राहत! KYC के लिए ब्रांच जाने की जरूरत नहीं, ई-मेल से हो जाएगा काम

LIVE TV





Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *