ऑक्सीजन के आयात में होगी आसानी: सरकार ने बंदरगाहों से कहा- ऑक्सीजन लाने वाले जहाजों से चार्ज न लें; सिंगल पेज फॉर्म से मिलेगी कस्टम क्लियरेंस


  • Hindi News
  • Business
  • Govt Asks Major Ports To Waive All Charges For Ships Carrying Oxygen And Related Equipment

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

नई दिल्ली16 घंटे पहले

कोरोना से लड़ाई में देश में ऑक्सीजन की किल्लत हो रही है। इसको खत्म करने के लिए सरकार ने बड़ी राहत दी है। केंद्र सरकार ने सभी बंदरगाहों से कहा है कि वे ऑक्सीजन और इससे संबंधित उपकरण लाने वाले जहाजों से किसी भी प्रकार का चार्ज न लें। सरकार ने फिलहाल तीन महीने तक चार्ज न लेने के लिए कहा है। आवश्यकता पड़ने पर चार्ज में छूट को आगे भी बढ़ाया जा सकता है।

ऑक्सीजन लाने वाले जहाजों को मिले प्राथमिकता
मिनिस्ट्री ऑफ पोर्ट्स, शिपिंग एंड वाटरवेज की ओर से जारी बयान के मुताबिक, सभी बंदरगाहों से कहा गया है कि वे ऑक्सीजन और इससे संबंधित उत्पाद लाने वाले जहाजों को प्राथमिकता दें। इसमें मेडिकल ग्रेड ऑक्सीजन, ऑक्सीजन टैंक, ऑक्सीजन बोतल, पोर्टेबल ऑक्सीजन जेनरेटर और ऑक्सीजन कंसंट्रेटर लाने वाले जहाज शामिल हैं। सरकार ने जिन चार्ज को हटाने के लिए कहा है, उनमें बंदरगाह ट्रस्ट की ओर से लगाए जाने वाले और भंडारण चार्ज भी शामिल हैं।

ऑक्सीजन के आयात पर बेसिक कस्टम ड्यूटी हटाई
देश में मेडिकल ऑक्सीजन की किल्लत को खत्म करने के लिए सरकार ने इसके आयात पर लगने वाली बेसिक कस्टम ड्यूटी और हेल्थ सेस की छूट दी है। यह छूट तीन महीने के लिए दी गई है। ऑक्सीजन और इससे संबंधित उत्पादों के आयात पर 5% बेसिक कस्टम ड्यूटी लगाई जाती है। इसके अलावा ऑक्सीजन के आयात पर 10% हेल्थ सरचार्ज और 18% IGST लगता है।

सिंगल पेज फॉर्म से मिल जाएगी कस्टम क्लियरेंस
सेंट्रल बोर्ड ऑफ इनडायरेक्ट टैक्सेज (CBIC) ने आयात की जाने वाली ऑक्सीजन और कोरोना वायरस से संबंधित मेडिकल उपकरणों के कस्टम क्लियरेंस के लिए नया फॉर्म जारी किया है। एक्सपोर्टर कोई समस्या होने पर इस सिंगल पेज फॉर्म को ऑनलाइन भरकर कस्टम क्लियरेंस पा सकते हैं। इस फॉर्म में एक्सपोर्टर्स को आयात किए जाने वाले सामान और इसके इस्तेमाल होने की जानकारी देनी होगी। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने राजस्व विभाग से ऑक्सीजन और इससे संबंधित उत्पादों के आयात पर जल्द से जल्द कस्टम क्लियरेंस देने के लिए सिस्टम बनाने के लिए कहा था।

देश में ऑक्सीजन की किल्लत नहीं
आइनॉक्स एयर प्रोडक्ट्स के डायरेक्टर सिद्धार्थ जैन ने हाल ही में मनीकंट्रोल से बातचीत में कहा है कि देश में मांग के अनुसार पर्याप्त ऑक्सीजन है, लेकिन डिस्ट्रीब्यूशन न होने के कारण कुछ राज्यों में ऑक्सीजन की किल्लत हो गई है। कंपनी देश की कुल जरूरत की करीब 50% ऑक्सीजन का उत्पादन करती हैं। अन्य ऑक्सीजन उत्पादक कंपनियों में लिंडे इंडिया, गोयल एमजी गैसेज प्राइवेट लिमिटेड और नेशनल ऑक्सीजन लिमिटेड शामिल हैं।

देश में प्रतिदिन 7,200 मीट्रिक टन ऑक्सीजन का उत्पादन
जैन के मुताबिक, इस समय पूरे देश में 7,200 मीट्रिक टन प्रतिदिन लिक्विड ऑक्सीजन का उत्पादन हो रहा है। यही ऑक्सीजन अस्पतालों को दी जाती है। जबकि इस समय देश में 5,000 मीट्रिक टन प्रतिदिन ऑक्सीजन की डिमांड है। उन्होंने कहा कि मौजूदा डिमांड की पूर्ति के लिए ऑक्सीजन का पर्याप्त स्टॉक है। यदि कोविड के केस रोजाना 5 लाख के पार पहुंचते हैं तो समस्या हो सकती है।

50 हजार मीट्रिक टन ऑक्सीजन आयात करेगी सरकार
किल्लत को दूर करने के लिए केंद्र सरकार 50 हजार मीट्रिक टन ऑक्सीजन का आयात करने जा रही है। इसके लिए स्वास्थ्य मंत्रालय ने टेंडर जारी कर दिया है। टेंडर जमा करने की अंतिम तारीख 21 अप्रैल थी। यह टेंडर 28 अप्रैल को खोला जाएगा। इस ऑक्सीजन की आपूर्ति तीन महीने के अंदर होनी है। केंद्र सरकार ने स्वास्थ्य मंत्रालय से सभी संभावित आयातकों से संपर्क करने के लिए भी कहा है।

सऊदी अरब के दमाम बंदरगाह से रविवार को 4 क्रायोजेनिक टैंक में 80 टन ऑक्सीजन लेकर जहाज भारत के लिए रवाना हुआ। ये जल्द ही मुंद्रा बंदरगाह पहुंचेगा। अडाणी समूह की अगुआई में यह ऑक्सीजन लाई जा रही है।

अस्पतालों में लगाए जाएंगे ऑक्सीजन प्लांट
केंद्र सरकार ने पीएम केयर्स फंड से 162 ऑक्सीजन प्लांट लगाने को मंजूरी दे दी है। यह ऑक्सीजन प्लांट अस्पतालों में ही लगाए जाएंगे। इससे अस्पताल मेडिकल ऑक्सीजन की जरूरत को पूरा करने में आत्मनिर्भर होंगे। इन ऑक्सीजन प्लांट्स की स्थापना के लिए अस्पतालों की पहचान की जा रही है। इन प्लांट्स के लगने से मेडिकल ऑक्सीजन की आपूर्ति के लिए राष्ट्रीय ग्रिड पर भी बोझ कम होगा।

10 हजार ऑक्सीजन कंसंट्रेटर के आयात में मदद करेगी अमेजन
ई-कॉमर्स कंपनी अमेजन इंडिया ने कहा है कि वह 10 हजार ऑक्सीजन कंसंट्रेटर के आयात में मदद करेगी। इसके लिए कंपनी ने कई स्टार्टअप और अन्य पार्टनर्स के साथ साझेदारी की है। कंपनी सिंगापुर से जल्द से जल्द 8 हजार ऑक्सीजन कंसंट्रेटर और 500 BiPAP मशीन मंगाने का प्रयास कर रही है। अमेजन ने कहा है कि इन ऑक्सीजन कंसंट्रेटर्स और BiPAP मशीनों को मंगाने के लिए सरकार के साथ मिलकर काम किया जा रहा है।

24 घंटे में रिकॉर्ड 3.54 लाख नए संक्रमित मिले
देश में कोरोना की दूसरी लहर दिन-ब-दिन खतरनाक होती जा रही है। पिछले 24 घंटे में रिकॉर्ड 3 लाख 54 हजार 533 नए संक्रमित सामने आए। यह दुनिया के किसी भी देश में एक दिन में मिलने वाले संक्रमितों का सबसे बड़ा आंकड़ा है। इस दौरान 2,806 लोगों की कोरोना से मौत भी हुई। राहत की बात ये है कि रिकवर होने वाले लोगों का आंकड़ा भी लगातार बढ़ रहा है। रविवार को 2 लाख 18 हजार 561 लोगों ने कोरोना को मात दी।

देश में कोरोना महामारी आंकड़ों में

  • बीते 24 घंटे में कुल नए केस आए: 3.54 लाख
  • बीते 24 घंटे में कुल मौत: 2,806
  • बीते 24 घंटे में कुल ठीक हुए: 2.18 लाख
  • अब तक कुल संक्रमित हो चुके: 1.73 करोड़
  • अब तक ठीक हुए: 1.42 करोड़
  • अब तक कुल मौत: 1.95 लाख
  • अभी इलाज करा रहे मरीजों की कुल संख्या: 28.07 लाख

खबरें और भी हैं…



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *