कोरोना फैलने और 5 G तकनीक के बीच है कोई संबंध? जानें सोशल मीडिया पर शेयर किए जा रहे दावों की सच्चाई


नई दिल्ली: दूरसंचार विभाग ने कहा कि 5जी तकनीक और कोविड-19 के प्रसार के बीच कोई संबंध नहीं है. विभाग ने लोगों से अपील की कि वे सोशल मीडिया पर फैल रहे इस तरह के आधारहीन और फर्जी संदेशों से गुमराह न हों.

विभाग ने सोमवार को एक आधिकारिक बयान में कहा कि यह दावा “गलत” है और इसका कोई वैज्ञानिक आधार नहीं है कि देश में 5जी ट्रायल या नेटवर्क से कोविड-19 बीमारी फैल रही है.

बयान में कहा गया कि विभिन्न सोशल मीडिया मंचों पर गुमराह करने वाले कई संदेश फैले हुए हैं जिनमें दावा किया गया है कि देश में महामारी की दूसरी लहर का कारण 5जी मोबाइल टावर के परीक्षण हैं.

विभान ने कहा, “ये संदेश गलत हैं और पूरी तरह से बेबुनियाद हैं. इसलिए आम जनता को सूचित किया जाता है कि 5जी तकनीक एवं कोविड-19 के प्रसार में कोई संबंध नहीं है और उनसे अपील की जाती है कि वे इससे जुडी गलत सूचना एवं अफवाहों से गुमराह न हो. 5जी तकनीक और कोविड-19 महामारी के बीच संबंध होने के दावे गलत हैं और इनका कोई वैज्ञानिक आधार नहीं है.”





Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *