कोरोना से IPL पर आर्थिक संकट: टूर्नामेंट कैंसल होने पर BCCI को 2000 करोड़ का नुकसान संभव, इस साल टी-20 वर्ल्ड कप से करोड़ों की कमाई भी अटकी


  • Hindi News
  • Sports
  • Cricket
  • Ipl
  • IPL 2020 : Why BCCI Can’t Cancel IPL, Profit And Loss If IPL Gets Canceled; Impact On T 20 World Cup In India

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

मुंबई12 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

IPL 2021 सीजन में सोमवार को 2 नए कोरोना मामले सामने आने के बाद लीग को रद्द करने की मांग उठने लगी है। वहीं, भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (BCCI) का मानना है कि टूर्नामेंट से आइसोलेटेड मरीजों को मन बहलाने का कुछ वक्त मिलेगा। बोर्ड के लिए अगले 24 घंटे महत्वपूर्ण हैं। उन्हें लीग को कैंसिल करने या जारी रखने पर फैसला लेना है।

यदि यह IPL रद्द होता है, तो बोर्ड को करीब 2000 करोड़ का नुकसान होगा। साथ ही इस साल भारत की मेजबानी में होने वाले टी-20 वर्ल्ड कप पर भी खतरा मंडराने लगेगा। भारत से मेजबानी छीनी जा सकती है। इससे भी BCCI को करोड़ों का नुकसान होगा।

IPL गवर्निंग काउंसिल UAE में कराना चाहता था टूर्नामेंट
सूत्रों ने भास्कर को बताया कि IPL गवर्निंग काउंसिल पिछले साल की तरह इस बार भी टूर्नामेंट UAE में कराना चाहती थी। अगर ऐसा होता, तो पिछली बार की तरह इसे सक्सेसफुल बनाया जा सकता था। पर भारत में कोरोना विस्फोट के बावजूद यह टूर्नामेंट आयोजित किया गया। नतीजा अब इस पर खतरा मंडराने लगा है।

सूत्रों के मुताबिक BCCI देश में IPL कराने के साथ यह मैसेज देना चाहता है कि भारत टी-20 वर्ल्ड कप को लेकर भी तैयार है। इस साल टी-20 वर्ल्ड कप अक्टूबर में भारत में होना है।

क्यों नहीं कैंसिल हो सकता IPL?
IPL से BCCI रेवेन्यू में बहुत फायदा हुआ है। इसका नतीजा यह हुआ कि इससे सरकार को समय पर टैक्स मिल रहा है। BCCI ने 2007-08 के बाद से 3500 करोड़ रुपए टैक्स के रूप में दिए हैं। IPL से पहले तक BCCI को एक चैरिटेबल ऑर्गेनाइजेशन समझा जाता था। BCCI इस लीग से 40% रेवेन्यू जनरेट करता है।

टेलीग्राफ की एक रिपोर्ट के मुताबिक वर्ल्ड क्रिकेट की इकोनॉमी लगभग 15 हजार करोड़ रुपए की है। इसमें 33% यानी 5 हजार करोड़ रुपए IPL से आता है। यही कारण है कि BCCI को IPL के आयोजन के दौरान दुनिया के अन्य बोर्ड का भी सहयोग मिल रहा है।

कोरोना के बीच भारत, इंग्लैंड और ऑस्ट्रेलिया ने साउथ अफ्रीका दौरे पर जाने से मना कर दिया था, लेकिन IPL कराया जा रहा है। इस साल अगस्त में भारत को इंग्लैंड का दौरा करना है। यह इंग्लैंड क्रिकेट बोर्ड के लिए आर्थिक तौर पर काफी अहम रहने वाला है। लॉकडाउन के कारण इंग्लिश बोर्ड को काफी नुकसान हुआ था।

रद्द नहीं होने पर 3 हजार करोड़ का मुनाफा हो सकता है
2019 में IPL की वैल्यू लगभग 47 हजार करोड़ रुपए थी। वहीं, BCCI के कोषाध्यक्ष अरुण धूमल के मुताबिक बोर्ड को पिछले सीजन में 4000 करोड़ रुपए का फायदा हुआ था। अगर इस साल लीग सफलतापूर्वक हुई, तो 3 हजार करोड़ रुपए मुनाफा होने का अनुमान है। इकोनॉमिक टाइम्स की रिपोर्ट के मुताबिक अगर पिछले सीजन में टूर्नामेंट रद्द होता, तो करीब 3800 करोड़ रु. का नुकसान हो सकता था।

IPL रद्द हुआ तो 2000 करोड़ रुपए का नुकसान
इस सीजन में भी IPL गवर्निंग काउंसिल ने पिछले सीजन की तरह कोई वैल्यू एड नहीं किया था। ऐसे में बोर्ड को IPL बीच में रद्द करने पर इसका 50% यानी 2000 करोड़ का नुकसान हो सकता है। इसके साथ ही बोर्ड को अक्टूबर में प्रस्तावित टी-20 वर्ल्ड कप के लिए भी रेवेन्यू जनरेट करना है। हाल ही में BCCI और सरकार के बीच वर्ल्ड कप के लिए टैक्स में छूट देने की मांग की भी बात उठी थी।

टी-20 वर्ल्ड कप के लिए टैक्स को लेकर भी परेशान है BCCI
हालांकि, सरकार ने अभी तक इसको लेकर कोई फैसला नहीं लिया है। अगर केंद्र सरकार टैक्स में 10% की भी छूट देती है, तो बोर्ड को करीब 226 करोड़ रुपए चुकाने होंगे। वहीं, कोई भी छूट नहीं देने की स्थिति में BCCI को वर्ल्ड कप कराने के लिए 906 करोड़ रुपए देने होंगे।

इसके साथ ही बोर्ड को फिलहाल घरेलू मुकाबले में शामिल हुए खिलाड़ियों, कोच, स्टाफ और इससे जुड़े लोगों को पैसे देने हैं। ऐसे में अगर IPL कैंसिल होता है, तो इसका असर कई और लोगों पर होगा।

खबरें और भी हैं…



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *