गोवा के सरकारी अस्पताल में नहीं थम रहा मौतों का सिलसिला, 15 और मरीजों ने तोड़ा दम



<p style="text-align: justify;"><strong>पणजी:</strong> गोवा सरकार ने बंबई हाई कोर्ट को बताया कि गोवा मेडिकल कॉलेज अस्पताल (जीएमसीएच) में गुरुवार को कोविड-19 के और 15 मरीजों की मौत हुई है. गौरतलब है कि इसी अस्पताल में दो दिन पहले भी कोरोना वायरस से संक्रमित 26 लोगों की मौत हुई थी.</p>
<p style="text-align: justify;">हाई कोर्ट की गोवा पीठ ने कहा कि राज्य प्रशासन ने उसे बताया कि इनमें से कुछ मौतें &lsquo;उपकरण संबंधी दिक्कतों&rsquo; से जुड़ी हो सकती हैं, जैसे ऑक्सीजन के कई सिलेंडरों को साथ जोड़ने से आपूर्ति के दौरान प्रेशर (दबाव) में कमी आना.</p>
<p style="text-align: justify;"><strong>15 लोगों की मौत हुई</strong></p>
<p style="text-align: justify;">अदालत ने कहा कि जीएमसीएच में कोविड-19 के मरीजों को चिकित्सकीय ऑक्सीजन मुहैया कराने के उसके आदेश के बावजूद इस सरकारी अस्पताल में गुरुवार तड़के दो बजे से छह बजे के बीच और 15 लोगों की मौत हुई है.</p>
<p style="text-align: justify;"><strong>जल्द मिले गोवा को उसका कोटा</strong></p>
<p style="text-align: justify;">बेंच कथित रूप से चिकित्सकीय ऑक्सीजन की कमी से जीएमसीएच में कोविड-19 मरीजों की मौत से जुड़ी कुछ याचिकाओं पर सुनवाई कर रही थी. अदालत ने कहा कि केन्द्र सरकार सुनिश्चित करे कि गोवा को ऑक्सीजन का तय कोटा जल्द से जल्द उपलब्ध हो. राज्य में फिलहाल संक्रमण के मामले तेजी से बढ़ रहे हैं.</p>
<p style="text-align: justify;">न्यायमूर्ति नितिन डब्ल्यू. साम्बरे और न्यायमूर्ति एम. एस. सोनाक की पीठ ने कहा कि 12 मई के आदेश के बावजूद अदालत को बड़े दुख के साथ यह दर्ज करना पड़ रहा है कि आज (बृहस्पतिवार को) जीएमसीएच में कोविड-19 से करीब 40 मरीजों की मौत हुई है. अदालत ने कहा कि इनमें से करीब 15 लोगों की मौत देर रात दो बजे से सुबह छह बजे के बीच हुई है.</p>
<p style="text-align: justify;">ये भी पढ़ें.</p>
<p style="text-align: justify;"><strong><a href="https://www.abplive.com/news/india/corona-vaccination-in-india-know-how-much-the-central-government-has-given-to-the-states-ann-1913763">Corona vaccination in India: टीकाकरण अभियान के तहत दी गई 35.6 करोड़ कोरोना वैक्सीन डोज, जानिए केंद्र सरकार ने राज्यों को कितनी खुराक दी</a></strong></p>



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *