देश में कोरोना के कारण हाल बेहाल, जानिए किन-किन राज्यों में है लॉकडाउन या सख्त पाबंदियां



<p style="text-align: justify;"><strong>नई दिल्ली :</strong> Coronavirus की दूसरी लहर से देश का हाल बेहाल हो चुका है. अस्पतालों में बेड नहीं है, ऑक्सीजन की भारी समस्या पैदा हो गई है तो कोरोना की दवाएं सर्वसुलभ नहीं है. कोविड-19 के मामलों में बेतहाशा बढ़ोतरी पर लगाम कसने के लिए देशव्यापी लॉकडाउन लगाए जाने की मांग के बीच भारत के बड़े हिस्से में इस तरह की पाबंदियां अलग-अलग समय अवधि के लिए जारी हैं. आज हम आपको बताएंगे कि किस राज्य में किस तरह की सख्ती की गई है.&nbsp;</p>
<ul style="text-align: justify;">
<li>दिल्ली: राष्ट्रीय राजधानी में 19 अप्रैल से लॉकडाउन लगा हुआ है और यह दस मई तक जारी रहेगा.</li>
<li>बिहार: चार मई से 15 मई तक लॉकडाउन लगाया गया.</li>
<li>उत्तर प्रदेश: सप्ताहांत लॉकडाउन दो और दिनों के लिए बढ़ाकर बृहस्पतिवार तक किया गया है.</li>
<li>हरियाणा: यहां तीन मई से सात दिनों के लिए लॉकडाउन है. इससे पहले नौ जिलों में सप्ताहांत कर्फ्यू लगाया गया था.</li>
<li>ओडिशा: पूरे राज्य में पांच मई से 19 मई तक 14 दिनों का लॉकडाउन लगाया गया है.</li>
<li>राजस्थान: 17 मई तक लॉकडाउन जैसी पाबंदियां लागू हैं.</li>
<li>कर्नाटक: 27 अप्रैल की रात से 12 मई तक लॉकडाउन लगा है.</li>
<li>झारखंड: 22 अप्रैल से छह मई तक लॉकडाउन है.</li>
<li>छत्तीसगढ़: यहां जिलाधिकारियों को लॉकडाउन 15 मई तक बढ़ाने की अनुमति है, जो पांच मई को समाप्त हो रहा है.</li>
<li>पंजाब: यहां सप्ताहांत लॉकडाउन जैसे उपायों के अलावा व्यापक पाबंदियां हैं और 15 मई तक रात्रि कर्फ्यू लागू रहेगा.</li>
<li>मध्य प्रदेश: यहां सात मई तक &lsquo;&lsquo;कोरोना कर्फ्यू&rsquo;&rsquo; लागू है जिसमें केवल आवश्यक सेवाओं को अनुमति है.</li>
<li>गुजरात: 29 शहरों में रात्रि कर्फ्यू जारी है. इसके अलावा आवाजाही एवं सार्वजनिक स्थलों पर एकत्रित होने से मनाही है.</li>
<li>महाराष्ट्र: पांच अप्रैल को निषेधाज्ञा के साथ कर्फ्यू जैसा लॉकडाउन और लोगों की आवाजाही पर पाबंदियां लगाई थीं. पाबंदियां बाद में 15 मई तक बढ़ा दी गईं.</li>
<li>गोवा: चार दिवसीय लॉकडाउन सोमवार को समाप्त हो गया. लेकिन कलानगुटे और उत्तर गोवा के कैंडोलिम जैसे पर्यटक स्थलों पर लॉकडाउन जारी रहेगा. सरकार ने कहा है कि कोविड-19 के कारण पाबंदियां दस मई तक जारी रहेंगी. जिस दौरान विभिन्न व्यावसायिक प्रतिष्ठान बंद रहेंगे जबकि राजनीतिक एवं सामाजिक कार्यक्रमों पर प्रतिबंध रहेगा.</li>
<li>तमिलनाडु: राज्य ने 20 मई तक सभी राजनीतिक, सामाजिक और सांस्कृतिक गतिविधियों पर रोक सहित व्यापक पाबंदियां लगाई हैं.</li>
<li>केरल: यहां चार मई से नौ मई तक लॉकडाउन जैसी कड़ी पाबंदियां लगाई गई हैं.</li>
<li>पुडुचेरी: यहां दस मई तक लॉकडाउन बढ़ाया गया है.</li>
<li>तेलंगाना: आठ मई तक रात्रि कर्फ्यू जारी है.</li>
<li>आंध्र प्रदेश: छह मई से दो हफ्ते के लिए दोपहर 12 बजे से सुबह छह बजे तक आंशिक कर्फ्यू की घोषणा. राज्य में पहले रात्रि कर्फ्यू लगा था.</li>
<li>पश्चिम बंगाल: पिछले हफ्ते हर तरह की सभाओं पर प्रतिबंध सहित व्यापक पाबंदियां लगाई गईं.</li>
<li>असम: रात्रि कर्फ्यू को रात आठ बजे से सुबह छह बजे किया गया. जिसमें बुधवार से सार्वजनिक स्थलों पर लोगों की आवाजाही प्रतिबंधित रहेगी. रात्रि कर्फ्यू 27 अप्रैल से सात मई तक.</li>
<li>नगालैंड: 30 अप्रैल से 14 मई तक कड़े नियमों के साथ आंशिक लॉकडाउन लगाया गया.</li>
<li>मिजोरम: आइजोल और अन्य जिला मुख्यालयों में तीन मई से आठ दिनों का लॉकडाउन.</li>
<li>जम्मू-कश्मीर: प्रशासन ने श्रीनगर, बारामूला, बडगाम और जम्मू जिलों में छह मई तक लॉकडाउन बढ़ाया. सभी 20 जिलों के निगम/शहरी स्थानीय निकाय सीमा में रात्रि कर्फ्यू जारी.</li>
<li>उत्तराखंड: राज्य ने कई पाबंदियां और रात्रि कर्फ्यू लगाया है.</li>
<li>हिमाचल प्रदेश: 12 में से चार जिलों में रात्रि कर्फ्यू और सप्ताहांत बंदी.</li>
</ul>
<p style="text-align: justify;"><strong>ये भी पढ़ें: </strong><strong><a href="https://www.abplive.com/news/india/aiims-director-randeep-guleria-strict-lockdowns-corona-virus-1910121" target="_blank" rel="noopener">किन इलाकों में लगना चाहिए सख्त लॉकडाउन? AIIMS के डायरेक्टर रणदीप गुलेरिया ने बताया</a><br /></strong></p>



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *