पिछले साल से अब तक 1952 रेल कर्मचारियों की हुई कोरोना से मौत- रेलवे ने दी जानकारी


देशभर में कोरोना के मामलों की संख्या लगातार बढ़ती जा रही है. हर क्षेत्र के लोग कोरोना वायरस से संक्रमित पाए जा रहे हैं. इसी बीच रेलवे ने बड़ी जानकारी दी है. देशभर में प्रतिदिन लगभग एक हजार रेलकर्मी कोरोना वायरस से संक्रमित पाए जा रहे हैं. वहीं पिछले साल से अबतक 1952 रेल कर्मचारियों की कोरोना से मौत हो गई है. रेल बोर्ड के अध्यक्ष सुनीत शर्मा ने जानकारी देते हुए बताया, “इस समय हम लोगों की मदद कर रहे हैं लेकिन हमारी हालात भी अच्छी नहीं है. रोजाना लगभग एक हजार कर्मचारी कोरोना वायरस से संक्रमित हो रहे हैं. पिछले साल से लेकर अबतक 1952 रेल कर्मियों की इस संक्रमण से मौत हो गई है. 

उन्होंने आगे कहा, “हम अपने स्टॉफ का पूरा ख्याल रख रहे हैं. उन्हें आवश्यक मेडिकल सुविधा भी उपलब्ध करा रहे हैं. हमारी कोशिश है कि संक्रमित कर्मचारी जल्द ठीक हो जाएं, इसके लिए हमने बेड्स भी बढ़ाए हैं.” उन्होंने आगे कहा, “रेल कर्मचारियों के साथ साथ उनके परिवारवालों की देखरेख करना भी हमारा फर्ज है. ऐसे में हमने अस्पतालों में ऑक्सीजन प्लांट भी बनाए हैं. हाल ही में ऑल इंडिया रेलवे मेन फेडरेशन ने रेल मंत्री पीयूष गोयल को पत्र लिखकर कोरोना की वजह से मरनेवाले रेलकर्मियों के लिए 50 लाख रुपये मुआवजे की मांग की थी.

राज्यों को ऑक्सीजन पहुंचाने में मदद कर रहा रेलवे 

हाल ही में रेल मंत्रालय ने एक बयान जारी कर कहा, “देश के अलग-अलग हिस्सों में 68 ऑक्सीजन एक्सप्रेस के जरिए ऑक्सीजन पहुंचाई गई है. इस ट्रेन के जरिए महाराष्ट्र में 293 मीट्रिक टन, मध्य प्रदेश में 271 मीट्रिक टन, उत्तर प्रदेश में 1230 मीट्रिक टन, हरियाणा में 555 मीट्रिक टन, तेलंगाना में 123 मीट्रिक टन, राजस्थान में 40 मीट्रिक टन, और दिल्ली में 1,679 मीट्रिक टन ऑक्सीजन पहुंचाई गई है.

ये भी पढ़ें

हौसले को सलाम: अस्थमा के मरीज मंजूर खुद ऑक्सीजन लगाकर लोगों तक पहुंचा रहे ऑक्सीजन सिलेंडर

Nepal Political Crisis: फिर से केपी शर्मा ओली को ही नेपाल के प्रधानमंत्री बनाने की हो रही तैयारी



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *